पूर्वाभास (www.poorvabhas.in) पर आपका हार्दिक स्वागत है। 11 अक्टूबर 2010 को वरद चतुर्थी/ ललित पंचमी की पावन तिथि पर साहित्य, कला एवं संस्कृति की पत्रिका— पूर्वाभास की यात्रा इंटरनेट पर प्रारम्भ हुई थी। 2012 में पूर्वाभास को मिशीगन-अमेरिका स्थित 'द थिंक क्लब' द्वारा 'बुक ऑफ़ द यीअर अवार्ड' प्रदान किया गया। इस हेतु सुधी पाठकों और साथी रचनाकारों का ह्रदय से आभार।

बुधवार, 7 सितंबर 2022

'शिक्षक दिवस' : आभार अभिव्यक्ति का महापर्व


बरेली : सोमवार 5 सितंबर 2022 को बीआईयू कॉलेज ऑफ़ ह्यूमनिटीज एण्ड जर्नलिज्म एवं बीआईयू कॉलेज ऑफ मैनेजमेंट (बरेली इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी) में संयुक्त रूप से 'शिक्षक दिवस' का आयोजन किया गया, जिसमें माँ सरस्वती को नमन करते हुए प्राचार्य डॉ अवनीश सिंह चौहान द्वारा मुख्य अतिथि के रूप में पधारे विश्वविद्यालय के कुलसचिव डॉ सुशील कुमार ठाकुर का पुष्प भेंट कर स्वागत किया गया।

बीबीए (फाइनेंस एण्ड टेक्सेशन) की छात्रा आरती गंगवार ने कार्यक्रम की रूपरेखा प्रस्तुत करते हुए छात्रा संस्कृति द्विवेदी को माँ सरस्वती की वंदना- "या कुन्देन्दु तुषार हार धवला" प्रस्तुत करने के लिए मंच पर आमंत्रित किया। तदुपरांत विश्वविद्यालय के कुलसचिव डॉ सुशील कुमार ठाकुर ने छात्रों को सम्बोधित करते हुए कहा, "शिक्षक हमें सत्य के मार्ग पर चलना सिखाते हैं।" डॉ अवनीश सिंह चौहान ने माननीय मुख्य अतिथि का आभार व्यक्त करते हुए कहा, "शिक्षक दिवस शिक्षकों के प्रति श्रद्धा एवं आभार प्रकट करने का महापर्व है।" 


इसके उपरांत बीबीए (फाइनेंस एण्ड टेक्सेशन) की छात्रा गरिमा वर्मा ने अपने वक्तव्य में बताया, "गुरुजन जीवन में आयी कठिनाइयों का बहादुरी से सामना करने की प्रेरणा देते हैं।" बी.ए. (मास कम्युनिकेशन, प्रथम सेमेस्टर) की छात्रा बरशानी गुप्ता ने शिक्षक को जीवन में ज्ञान-रूपी प्रकाश लाने वाला बताया, जबकि वंशिका पटेल ने "जीवन में जो राह दिखाए" शीर्षक से काव्य प्रस्तुति दी। कॉलेज की अन्य छात्राओं- सलोनी (बीबीए), अदिति, (एमएचए), प्रियांशी गुप्ता एवं निमरा खान (बीकॉम ऑनर्स), सृष्टि (एमएचए) आदि ने भी भावपूर्ण प्रस्तुतियाँ दीं। शिक्षा और शिक्षक की भूमिका को रेखांकित करने के उद्देश्य से महाविद्यालयों के छात्र-छात्राओं द्वारा दी गयीं भावपूर्ण प्रस्तुतुतियों की सहायक आचार्य अतुल बाबू ने सराहना की। 


कार्यक्रम के सफल आयोजन पर बरेली इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी की माननीया कुलपति डॉ लता अग्रवाल ने उक्त महाविद्यालयों के सभी छात्र-छात्राओं एवं शिक्षकों को बधाई एवं शुभकामनाएँ दीं। फोटोग्राफी का कार्य चमन बाबू ने किया। कार्यक्रम का समापन संयोजक मंडल - सहायक आचार्य रीना सिंह एवं अश्वनी प्रताप सिंह, द्वारा धन्यवाद ज्ञापन से हुआ।

06 सितंबर 2022 को पृष्ठ 07 पर 'अमृत विचार' (बरेली) में प्रकाशित समाचार :
 


प्रस्तुति: 
'वंदे ब्रज वसुंधरा' सूक्ति को आत्मसात कर जीवन जीने वाले वृंदावनवासी साहित्यकार डॉ अवनीश सिंह चौहान बरेली इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी, बरेली के मानविकी एवं पत्रकारिता महाविद्यालय में प्रोफेसर और प्राचार्य के पद पर कार्यरत हैं।

'Teacher's Day Celebration' in BIUCHJ & BIUCM