पूर्वाभास (www.poorvabhas.in) पर आपका हार्दिक स्वागत है। 11 अक्टूबर 2010 को वरद चतुर्थी/ ललित पंचमी की पावन तिथि पर साहित्य, कला एवं संस्कृति की पत्रिका— पूर्वाभास की यात्रा इंटरनेट पर प्रारम्भ हुई थी। 2012 में पूर्वाभास को मिशीगन-अमेरिका स्थित 'द थिंक क्लब' द्वारा 'बुक ऑफ़ द यीअर अवार्ड' प्रदान किया गया। इस हेतु सुधी पाठकों और साथी रचनाकारों का ह्रदय से आभार।

मंगलवार, 20 फ़रवरी 2024

आईकेएस द्वारा आयोजित 'मास्टर्स ट्रेनिंग प्रोग्राम' हेतु अवनीश सिंह चौहान का चयन

डॉ.अवनीश सिंह चौहान

बरेली : विश्‍वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) द्वारा राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित प्रतियोगिता परीक्षा में बरेली इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी के संघटक महाविद्यालय— 'बीआईयू कॉलेज ऑफ ह्यूमनिटीज एण्ड जर्नलिज़्म' में आचार्य (अंग्रेजी) एवं प्राचार्य के पद पर कार्यरत डॉ अवनीश सिंह चौहान के उत्तीर्ण होने पर आईकेएस डिवीजन, शिक्षा मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा '6-दिवसीय फेस-टू-फेस मास्टर्स ट्रेनिंग प्रोग्राम' के लिए चयन कर लिया गया है। 

विश्‍वविद्यालय अनुदान आयोग के संयुक्त सचिव डॉ मंथा श्रीनिवासु के विभागीय कर्मचारी द्वारा 18 फरवरी 2024 को डॉ अवनीश को ईमेल द्वारा सूचित किया गया कि यह प्रशिक्षण कार्यक्रम केंद्रीय संस्कृत विश्वविद्यालय, भोपाल कैम्पस, संस्कृत मार्ग, बागसेवनिया, भोपाल, मध्य प्रदेश-462 043 में 26 फरवरी से 02 मार्च 2024 तक आयोजित किया जाएगा। उन्होंने अपने पत्र में बताया कि प्रशिक्षण कार्यक्रम में सफल भागीदारी होने पर चयनित मास्टर ट्रेनर्स को, यूजीसी द्वारा निर्देशित होने पर, देशभर के विश्विद्यालयों के लगभग 10000 शिक्षकों को प्रशिक्षित करने का अवसर प्रदान किया जाएगा।

उक्त प्रशिक्षण कार्यक्रम हेतु चयनित होने पर डॉ चौहान ने हर्ष व्यक्त करते हुए अपने पूजनीय पिताश्री, माताश्री, गुरुजनों सहित बरेली इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी की माननीया कुलपति डॉ लता अग्रवाल, कुल सचिव डॉ एस के ठाकुर, विश्विद्यालय द्वारा स्थापित राष्ट्रीय मूल्यांकन और प्रत्यायन परिषद (NAAC) प्रकोष्ठ के समन्वयक डॉ संजीव कुमार माहेश्वरी, डॉ अतुल सिंघल, श्री संचित अग्रवाल, विश्विद्यालय में कार्यरत अन्य प्राचार्यों, आचार्यों, छात्र-छात्राओं आदि का आभार व्यक्त किया। 




अमृत विचार, बरेली संस्करण, फरवरी 21, 2024 
के पृष्ठ 5 पर प्रकाशित


समाचार प्रस्तुति :
ओम चौहान सेन्ट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ़ साउथ बिहार में बीएएलएलबी  पाठ्यक्रम के छात्र हैं। 

KEEP READING IN ENGLISH: CLICK LINK