पूर्वाभास पर आपका हार्दिक स्वागत है। 2012 में पूर्वाभास को मिशीगन-अमेरिका स्थित 'द थिंक क्लब' द्वारा 'बुक ऑफ़ द यीअर अवार्ड' प्रदान किया गया। 2014 में मेरे प्रथम नवगीत संग्रह 'टुकड़ा कागज का' को अभिव्यक्ति विश्वम् द्वारा 'नवांकुर पुरस्कार' एवं उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान, लखनऊ द्वारा 'हरिवंशराय बच्चन युवा गीतकार सम्मान' प्रदान किया गया। इस हेतु सुधी पाठकों और साथी रचनाकारों का ह्रदय से आभार।

रविवार, 17 अप्रैल 2011

मुरादाबाद में किया गया देवेन्द्र सफल को सम्मानित

मंच पर माहेश्वर तिवारी, ओम आचार्य
 देवेन्द्र सफल

एवं ओमप्रकाश गुप्ता 

मुरादाबाद (रविवार १० अप्रैल): साहित्य संस्था अक्षरा की ओर से नवीन नगर स्थित मानसरोवर कन्या इंटर कालेज में आयोजित सम्मान समारोह में कानपुर के गीत कवि देवेंद्र सफल को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का शुभारम्भ अवनीश सिंह चौहान द्वारा प्रस्तुत सरस्वती वंदना से हुआ। इस अवसर पर स्थानीय साहित्यकारों ने देवेंद्र सफल की रचनाओं पर विचार रखे तथा गीत गोष्ठी आयोजित हुई। वरिष्ठ नवगीतकार माहेश्र्वर तिवारी ने कहा कि श्री सफल के गीत संग्रह में राष्ट्र के प्रति चिन्ता झलकती है। साहित्यकार अनुराग ने कहा कि उनके गीतों में राग चेतना के स्वर मुखर होते हैं। आनंद कुमार 'गौरव' ने कहा कि देवेन्द्र सफल ने गीत-नवगीत साहित्य को समृद्ध किया है। अक्षरा संस्था के संयोजक योगेंद्र वर्मा 'व्योम' ने कहा कि देवेंद्र सफल गीत कवियों की अग्रिम पंक्ति के सशक्त रचनाकार हैं; जबकि अवनीश सिंह चौहान ने कहा कि देवेन्द्र सफल न केवल नाम से सफल हैं बल्कि उनकी लेखनी भी उन्हें सफल रचनाकार सिद्ध करती है । देवेन्द्र सफल के अब तक प्रकाशित 'पखेरू गंध के', 'लेख लिखे माटी' प्रमुख गीत संग्रह हैं। इस अवसर परं डॉ महेश दिवाकर, ओंकार सिंह 'ओंकार', कृष्ण कुमार नाज, राम लाल अंजाना, मनोज वर्मा, वीरेंद्र ब्रजवासी, ओम प्रकाश, विवेक निर्मल आदि मौजूद थे। संचालन गीत-पहल के संपादक आनंद गौरव ने किया

Devendra Safal Ka Samman

1 टिप्पणी:

  1. कवि देवेंद्र सफल को सम्मानित किये जाने पर हार्दिक बधाई।

    उत्तर देंहटाएं

आपकी प्रतिक्रियाएँ हमारा संबल: