पूर्वाभास पर आपका हार्दिक स्वागत है। 2012 में पूर्वाभास को मिशीगन-अमेरिका स्थित 'द थिंक क्लब' द्वारा 'बुक ऑफ़ द यीअर अवार्ड' प्रदान किया गया। 2014 में मेरे प्रथम नवगीत संग्रह 'टुकड़ा कागज का' को अभिव्यक्ति विश्वम् द्वारा 'नवांकुर पुरस्कार' एवं उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान, लखनऊ द्वारा 'हरिवंशराय बच्चन युवा गीतकार सम्मान' प्रदान किया गया। इस हेतु सुधी पाठकों और साथी रचनाकारों का ह्रदय से आभार।

हमारे बारे में



पूर्वाभास में प्रकाशन के सम्बन्ध में

पूर्वाभास (www.poorvabhas.in) पर हिन्दी की समस्त विधाओं में रचित मौलिक तथा स्तरीय रचनाओं को स्वागत है। रचनाकार अपनी रचनाएं हिन्दी के यूनीकोड फॉण्ट में टाईप कर abnishsinghchauhan@gmail.com पर भेज सकते है। रचनाएं अगर अप्रकाशित, मौलिक और स्तरीय होगी, तो प्राथमिकता दी जाएगी। अगर किसी अप्रत्याशित कारणवश रचनाएं एक माह तक प्रकाशित ना हो पाए अथवा किसी भी प्रकार की सूचना प्राप्त ना हो पाए तो कृपया पुनः स्मरण दिलवाने का कष्ट करें।

पूर्वाभास का प्रकाशन पूणरूप से अवैतनिक किया जाता है। पूर्वाभास का उद्धेश्य हिन्दी साहित्य की सेवार्थ वरिष्ठ रचनाकारों और उभरते रचनाकारों को एक ही मंच पर उपस्थित कर हिन्दी को और अधिक सशक्त बनाना है। सो पूर्वाभास के इस पुनीत प्रयास में समस्त हिन्दी प्रेमियों, साहित्यकारों का मार्गदर्शन और सहयोग अपेक्षित है।

पूर्वाभास में प्रकाशित किसी भी रचनाकार की रचना व अन्य सामग्री की कॉपी करना अथवा अपने नाम से कहीं और प्रकाशित करना अवैधानिक है। अगर कोई ऐसा करता है तो उसकी जिम्मेदारी स्वयं की होगी जिसने सामग्री कॉपी की होगी। अगर पूर्वाभास में प्रकाशित किसी भी रचना को प्रयोग में लाना हो तो उक्त रचनाकार की सहमति आवश्यक है जिसकी रचना पूर्वाभास पर प्रकाशित की गई है इस हेतु संपादक- पूर्वाभास से संपर्क किया जा सकता है।

पूर्वाभास में कॉपीराइट के सम्बन्ध में


पूर्वाभास पूर्णतया अव्यावसायिक जालस्थल है. इस जालस्थल के अस्तित्व और विकास के पीछे किसी का कोई भी आर्थिक हित नहीं है. पूर्वाभास का एकमात्र उद्देश्य हिन्दी साहित्य और साहित्यकारों से सम्बंधित सामग्री को इन्टरनेट पर एक स्थान पर उपलब्ध कराना है ताकि संसारभर के पाठक-विद्वान् इसका लाभ उठा सकें. इस प्रकार से पूर्वाभास हिंदी काव्य को विश्वभर में प्रचारित एवं प्रसारित करने का एक प्रयास है.

पूर्वाभास में संकलित सभी रचनाओं/आलेखों के साथ रचनाकारों का नाम दिया जाता है जिससे उन्हें उचित श्रेय मिलता है.

तथापि यदि किसी रचनाकार / कॉपीराइट-धारक को कोई आपत्ति है तो उनसे विनम्र आग्रह है कि वे हिन्दी काव्य के प्रचार-प्रसार को ध्यान में रखते हुए पूर्वाभास टीम से अनजाने में हुई भूल को क्षमा कर देंगे. साथ ही यदि किसी रचनाकार/ कॉपीराइट-धारक को कोई आपत्ति है तो कृपया पूर्वाभास टीम को सूचित कर देवें जिससे उस रचना/ आलेख को पूर्वाभास से हटाया जा सके. किसी विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र मुरादाबाद (उ.प्र., भारत) ही होगा.

© पूर्वाभास हिन्दी साहित्य और साहित्यकारों से सम्बंधित सामग्री को इन्टरनेट पर एक स्थान पर लाने का एक अव्यावसायिक और सामूहिक प्रयास है। इस वेबसाइट पर संकलित सभी रचनाओं/आलेखों के सर्वाधिकार सम्बंधित रचनाकार/ लेखक या अन्य वैध कॉपीराइट धारक के पास सुरक्षित हैं।