पूर्वाभास पर आपका हार्दिक स्वागत है। 2012 में पूर्वाभास को मिशीगन-अमेरिका स्थित 'द थिंक क्लब' द्वारा 'बुक ऑफ़ द यीअर अवार्ड' प्रदान किया गया। 2014 में मेरे प्रथम नवगीत संग्रह 'टुकड़ा कागज का' को अभिव्यक्ति विश्वम् द्वारा 'नवांकुर पुरस्कार' एवं उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान, लखनऊ द्वारा 'हरिवंशराय बच्चन युवा गीतकार सम्मान' प्रदान किया गया। इस हेतु सुधी पाठकों और साथी रचनाकारों का ह्रदय से आभार।

सोमवार, 28 फ़रवरी 2011

शब्द शिल्पी गोपाल दास नीरज का किया सम्मान


clip_image001[4] 

 


clip_image001[4]


मुरादाबाद : २७ फरवरी. अत्यंत आत्मीय भाव से हुए सम्मान समारोह में प्रख्यात कवि और गीतकार गोपालदास नीरज ने कहा कि साहित्य को संजोकर रखने की जिम्मेदारी सुधी श्रोताओं पर है। आरोही कला संस्थान की ओर से श्री नीरज का नागरिक अभिनंदन रविवार की शाम को मिगलानी सेलीब्रेशन में किया गया। 


86 वर्षीय श्री नीरज ने कहा कि यह मेरी शब्द साधना का अत्यंत भाव भरा अभिनंदन है। उन्होंने अपनी बहुचर्चित गीत कारवां गुजर गया के साथ ही युद्ध न होने देंगे से अहिंसा और प्रेम का संदेश दिया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि राष्ट्रीय हिंदी अकादमी के सदस्य डा.योगेंद्र नाथ शर्मा 'अरुण' ने कहा कि आयु की अधिकता का बहाना लेकर जिम्मेदारी से बचने वालों के लिए नीरज जीवंत और अनुकरणीय उदाहरण हैं। विशिष्ट अतिथि नवगीतकार माहेश्र्वर तिवारी और डा.सम्राट सुधा रहे। अध्यक्षता शचींद्र भटनागर ने की और संचालन डा.जगदीप कुमार ने किया। स्वागत राकेश खन्ना ने किया। 


इस मौके पर पूर्व पालिका अध्यक्ष लक्ष्मण प्रसाद अग्रवाल, नगर आयुक्त लालजी राय, शिव मिगलानी, वीरेंद्र अग्रवाल, डा.जयपाल सिंह व्यस्त, जुगनू जादूगर, अंबरीष गर्ग, आईबी सक्सेना, डा.आरपी शर्मा, विजय अग्रवाल, डा.महेश दिवाकर, डा.इंदिरा रानी, तेजपाल सिंह, कृष्ण कुमार 'नाज़' आदि मौजूद रहे। आयोजन को लेकर आरोही द्वारा विशेष तैयारियां की गई थीं। आयोजन में पहुंचे विभिन्न क्षेत्र के लोगों, जिनमें गीत-पहल संपादक मंडल- आनंद कुमार 'गौरव', योगेन्द्र वर्मा 'व्योम' तथा अवनीश सिंह चौहान भी  शामिल हैं, ने भी श्री नीरज को पुष्प देकर सम्मानित किया।



1 टिप्पणी:

  1. ऐसे जनकवि का सम्मान कर हम साहित्य का सम्मान करते हैं...अच्छी रिपोर्ट...

    नीरज

    उत्तर देंहटाएं

आपकी प्रतिक्रियाएँ हमारा संबल: