पूर्वाभास पर आपका हार्दिक स्वागत है। 2012 में पूर्वाभास को मिशीगन-अमेरिका स्थित 'द थिंक क्लब' द्वारा 'बुक ऑफ़ द यीअर अवार्ड' प्रदान किया गया। 2014 में मेरे प्रथम नवगीत संग्रह 'टुकड़ा कागज का' को अभिव्यक्ति विश्वम् द्वारा 'नवांकुर पुरस्कार' एवं उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान, लखनऊ द्वारा 'हरिवंशराय बच्चन युवा गीतकार सम्मान' प्रदान किया गया। इस हेतु सुधी पाठकों और साथी रचनाकारों का ह्रदय से आभार।

शुक्रवार, 3 अगस्त 2012

कविता-पर्व व 'ऋतुराज सम्मान'



दिल्ली: लोकप्रिय कविता को समर्पित जानी-मानी संस्था 'परंपरा' व हेबीटेट सेंटर के संयुक्त तत्वाधान में आगामी स्वाधीनता दिवस की पूर्व संध्या को 'कविता-पर्व' का आयोजन हेबीटेट सेंटर में किया जायेगा। इसके अंतर्गत 'परंपरा' द्वारा चयनित कवियों को 'परंपरा ऋतुराज सम्मान वर्ष २०१२' प्रदान किये जायेंगे एवं कुछ विशिष्ट देश-विख्यात कवियों का काव्य-पाठ के लिये समागम भी होगा। 

'परंपरा ऋतुराज सम्मान' के लिये दो कवियों को समकक्ष पाया गया है- श्री कमलेश भट्ट 'कमल' ('मैं नदी की सोचता हूँ') एवं डॉ. वर्तिका नंदा ('थी...हूँ... रहूँगी' ) । चयन समिति के सदस्य थे श्री राजनारायण बिसारिया, डॉ. अजित कुमार एवं कैलाश बाजपेयी।

'परंपरा विशिष्ट ऋतुराज सम्मान' प्रसिद्ध लोकप्रिय कवि श्री मुनव्वर राणा को उनकी 'माँ', 'मुहाजिरनामा', 'सुख़न सराय' जैसी चर्चित कृतियों के लिये दिया जाएगा. दोनों ऋतुराज सम्मानों की भेंट राशि एक लाख रुपये है।

इस कविता-पर्व में सम्मानित कवियों के अतिरिक्त अतिथि कवि के रूप में भाग लेंगे- व्यास सम्मान से अलंकृत डॉ. कैलाश बाजपेयी, ओज के कवि श्री उदय प्रताप सिंह व गीतकार श्री किशन सरोज व संचालन करेंगे सुप्रसिद्ध व्यंग्यकार डॉ. अशोक चक्रधर, जो दोनों संस्थानों से जुड़े है

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

आपकी प्रतिक्रियाएँ हमारा संबल: