पूर्वाभास पर आपका हार्दिक स्वागत है। 2012 में पूर्वाभास को मिशीगन-अमेरिका स्थित 'द थिंक क्लब' द्वारा 'बुक ऑफ़ द यीअर अवार्ड' प्रदान किया गया। 2014 में मेरे प्रथम नवगीत संग्रह 'टुकड़ा कागज का' को अभिव्यक्ति विश्वम् द्वारा 'नवांकुर पुरस्कार' एवं उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान, लखनऊ द्वारा 'हरिवंशराय बच्चन युवा गीतकार सम्मान' प्रदान किया गया। इस हेतु सुधी पाठकों और साथी रचनाकारों का ह्रदय से आभार।

बुधवार, 1 अप्रैल 2015

त्रिलोक सिंह ठकुरेला को ब्रज-गौरव सम्मान


(21-22 मार्च/आगरा): अखिल भारतीय साहित्य परिषद (न्यास) की ब्रज प्रान्त इकाई का दो दिवसीय अधिवेशन कालिंद्री विहार (आगरा) स्थित त्रिदेव फ़ार्म हाउस में संपन्न हुआ । श्री रविन्द्र शुक्ल (पूर्व शिक्षा मंत्री, उत्तर प्रदेश ) के विशिष्ठ आतिथ्य में चिंतन बैठक, काव्य-संध्या एवं सम्मान समारोह का आयोजन परिषद के संयोजक श्री ग़ाफ़िल स्वामी द्वारा किया गया। इस अवसर पर सुपरिचित कुण्डलियाकार एवं साहित्यकार त्रिलोक सिंह ठकुरेला को उनके साहित्यिक योगदान के लिए 'ब्रज-गौरव सम्मान' से सम्मानित किया गया। डॉ. भगवती प्रसाद मिश्र 'अतीत', ग़ाफ़िल स्वामी और डॉ. शेष पाल सिंह 'शेष ' ने माल्यार्पण, शॉल एवं सम्मान-पत्र देकर श्री त्रिलोक सिंह ठकुरेला को सम्मानित किया गया। वरिष्ठ गीतकार श्री सोम ठाकुर को 'ब्रज-भूषण', डॉ . दीं मुहम्मद दींन को 'ब्रज-रत्न', जय सिंह नीरद को ब्रज-भारती', डॉ.भगवती प्रसाद मिश्र 'अतीत' को ब्रज-मनीषी' एवं श्री संतोष कटारा को 'ब्रज-मार्तण्ड' की उपाधि से सम्मानित किया गया। इस अवसर पर अवशेष कुमार विमल द्वारा संपादित 'शेषामृत' पत्रिका के डॉ. रघुनाथ मिश्र 'सहज' विशेषांक'  सहित कई पुस्तकों का लोकार्पण भी किया गया। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

आपकी प्रतिक्रियाएँ हमारा संबल: