पूर्वाभास पर आपका हार्दिक स्वागत है। 2012 में पूर्वाभास को मिशीगन-अमेरिका स्थित 'द थिंक क्लब' द्वारा 'बुक ऑफ़ द यीअर अवार्ड' प्रदान किया गया। 2014 में मेरे प्रथम नवगीत संग्रह 'टुकड़ा कागज का' को अभिव्यक्ति विश्वम् द्वारा 'नवांकुर पुरस्कार' एवं उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान, लखनऊ द्वारा 'हरिवंशराय बच्चन युवा गीतकार सम्मान' प्रदान किया गया। इस हेतु सुधी पाठकों और साथी रचनाकारों का ह्रदय से आभार।

गुरुवार, 17 जनवरी 2013

अखिल भारतीय साहित्य कला मंच का अन्तर्राष्ट्रीय हिन्दी समारोह काठमाण्डु (नैपाल) में


(8 जून 2013 से 11 जून, 2013 तक)

मुरादाबाद: माँ सरस्वती की अनुकम्पा से 'अखिल भारतीय साहित्य कला मंच' विगत 26 वर्षों से निरन्तर हिन्दी भाषा और साहित्य के संवर्धन एवं उन्नयन के लिए राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय स्तर के साहित्य-समारोह प्रत्येक वर्ष करता आ रहा है। अब 'मंच ने अपना 27वां वार्षिक साहित्य समारोह काठमाण्डु (नैपाल) में (8 जून, 2013 से 11 जून, 2013) तक आयोजित करने का निर्णय लिया है। इस समारोह में देश-विदेश के अनेकानेक हिन्दी के विद्वान, साहित्य मर्मज्ञ, हिन्दी सेवी-शिक्षक, शिक्षिकाएँ, शिक्षार्थी, साहित्यकार, पत्रकार, संपादक आदि अपनी सहभागिता कर रहे हैं। आप भी स्वयंसेवी आधार पर इस अन्तर्राष्ट्रीय हिन्दी सम्मेलन में अपनी सहभागिता कर सकते हैं।

'अन्तर्राष्ट्रीय हिन्दी समारोह-2013' के मुख्य आकर्षण
1. सन 2013 में प्रकाशित कृतियों का लोकार्पण
2. अन्तर्राष्ट्रीय हिन्दी संगोष्ठी
3. अन्तर्राष्ट्रीय हिन्दी काव्य गोष्ठी
4. साहित्यकार सम्मान 2013 का वितरण
5. काठमाण्डु के एतिहासिक, प्राक्रतिक और सांस्क्रतिक स्थलों का भ्रमण


कार्यक्रमानुसार सभी प्रतिभागी 8 जून, 2013 की प्रात: 7 बजे, शनिवार को नयी दिल्ली के इंदिरा गांधी अन्तर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट पर अपने-2 स्थलों से पहुँचेंगे । नयी दिल्ली एयरपोर्ट से इसी दिन प्रात: 10: 55 बजे हमारा विमान काठमाण्डु (नैपाल) के अन्तर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट के लिए उड़ान भरेगा। एयरपोर्ट काठमाण्डु (नैपाल) के परिसर में हमें लेने के लिए एजेन्सी की वातानुकूलित बसें मार्गदर्शक के साथ उपस्थित रहेंगी। इनके द्वारा सभी प्रतिभागी 'शंकर होटल (फोर स्टार) काठमाण्डु (नैपाल) में पहुँचेंगे, जहाँ पर 8 जून से 11 जून की प्रात: तक हम सबके लिए आवासीय और शाकाहारी भोजन एवं जलपान की व्यवस्था होगी।

तत्पश्चात 9 जून, 2013 को प्रात: 9 बजे से 6 बजे सायं तक शंकर होटल (फोर स्टार) के वातानुकूलित सुसज्जित विशाल सभागार में कार्यक्रमानुसार अन्तर्राष्ट्रीय हिन्दी समारोह सम्पन्न होगा। रात्रि विश्राम के उपरान्त 10 जून, 2013 को एजेन्सी द्वारा निर्धारित वातानुकूलित बसों द्वारा मार्गदर्शकों के निर्देशन में हम सभी प्रतिभागी काठमाण्डु (नैपाल) के प्राकृतिक, ऐतिहासिक और सांस्कृतिक स्थलों का पूरे दिन भ्रमण करेंगे। पुन: रात्रि विश्राम के पश्चात 11 जून, 2013 को प्रात: जलपान के उपरान्त हमें होटल चैक आउट करना है और पूर्व निर्धारित बसों के द्वारा श्री पशुपतिनाथ मन्दिर काठमाण्डु (नैपाल) के लिए प्रस्थान करेगे, वहाँ से निवृत्त होने के पश्चात उन्हीं बसों के द्वारा अन्तर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट काठमाण्डु (नैपाल) में ठीक 11 बजे पहुँच जायेंगे, जहाँ से ठीक 2:00 बजे नई दिल्ली के लिए हमारा विमान उड़ान भरेगा और हम लोग लगभग 4 बजे अपरान्ह नयी दिल्ली वापस पहुँच जायेंगे।

बन्धुओं-बहिनों! इस अन्तर्राष्ट्रीय हिन्दी सम्मेलन में सहभागिता हेतु आपको भारतीय मुद्रा में रू0 21000/- मात्र की पंजीयन सहयोग राशि किसी भी राष्ट्रीयकृत बैंक (एसबीआई, पंजाब नेशनल बैंक, बैंक आफ बड़ौदा, सिंडीकेट बैंक) द्वारा प्रदत्त 'मल्टीसिटी बैंक चैक' के द्वारा डॉ महेश 'दिवाकर, मुरादाबाद के नाम देय क्रास्ड चैक के रूप में यथा शीघ्र भेजनी है। चैक के पीछे अपना 'नाम-पता और सोददेश्य' अंकित अवश्य करें। यह पंजीयन सहयोग राशि एकमुश्त, पंजीयन आवेदन-पत्र के साथ 28 फरवरी, 2013 तक पंजीकृत डाक से प्रत्येक स्थिति में प्राप्त हो जानी चाहिए। पत्र-प्रेषण का पता है-

डा0 महेश 'दिवाकर (संस्थापक-अध्यक्ष)
अखिल भारतीय साहित्य कला मंच
'सरस्वती भवन, 12-मिलन विहार, देहली राजमार्ग
मुरादाबाद-244001 (उ0प्र0)
मोबाइल नम्बर- 09927383777, 09837263411


ध्यातव्य है कि समारोह हेतु प्राप्त धनराशि पंजीयन सहयोग राशि के रूप में हैं; जिसे किसी भी स्थिति में वापस नहीं किया जायेगा और न ही यह किसी अन्य प्रतिभागी के नाम स्थानान्तरित होगी। अत: पूर्णरूपेण विचार करके ही अपनी पंजीयन/सहयोग राशि व पंजीयन आवेदन पत्र पंजीकृत डाक से हमें भिजवायें।

इस पंजीयन सहयोग राशि में 8 जून, 2013 को नयी दिल्ली अन्तर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट से काठमाण्डु (नैपाल) एयरपोर्ट और पुन: 11 जून, 2013 को वापस काठमाण्डु एयरपोर्ट से नयी दिल्ली (भारत) अन्तर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट तक आने-जाने का समग्र व्यय शामिल है। यथा-अन्तर्राष्ट्रीय काठमाण्डु एयरपोर्ट से शंकर होटल काठमाण्डु बसो द्वारा जाना, पुन: बसों द्वारा काठमाण्डु पर्यटन स्थलों पर घूमना, वापस एयरपोर्ट काठमाण्डु पहुंचना, शंकर होटल में 8 जून, 2013 की अपरान्ह से लेकर 11 जून, 2013 की प्रात: जलपान तक (चैक आउट होने से पूर्व) यथा समय जलपान और दोनों समय का विशुद्ध शाकाहारी भारतीय भोजन, पर्यटन-भ्रमण तथा समारोह आयोजन का समग्रव्यय इसी राशि में शामिल है।

समस्त प्रतिभागियो को समय पर यात्रा के मध्य दिए जाने वाले आवश्यक निर्देशों का अनुपालन करना अनिवार्य होगा। पंजीयन आवेदन-पत्र संलग्न है। इसे ध्यानपूर्वक पढ़ लें और भरकर भेजें।

कृपया अपने पासपोर्ट अथवा भारतीय चुनाव आयोग द्वारा प्रदत्त मतदान परिचय-पत्र की कलर्ड छायाप्रति और अपना शैक्षिक-साहित्यिक विवरण (बायोडाटा) तथा अपना एक कलर्ड छायाचित्र साथ भेजना न भूलें। नैपाल अथवा अन्य देशों से शामिल हिन्दी-सेवियों को पृथकश: आंशिक पंजीयन शुल्क देना होगा।

अन्तर्राष्ट्रीय संगोष्ठी का मुख्य विषय:

'हिन्दी का वैश्विक परिदृश्य'

इसी प्रकार इसमें समाहित अन्य विषय हैं-

1. विश्व के विविध देशों में हिन्दी की दशा व दिशा
2. प्रवासी भारतीय साहित्यकारों का हिन्दी को अवदान
3. भारत के विविध प्रान्तों में हिन्दी का क्रमिक विकास
4. सरकारी गैर-सरकारी साहित्यिक-संस्थाओं का हिन्दी को योगदान
5. हिन्दी पर भारतीय राजनीति का प्रभाव
6 मुगलकाल में हिन्दी
7. अंग्रेजों के कार्यकाल में हिन्दी
8. विज्ञान और हिन्दी
9. चिकित्सा विज्ञान और हिन्दी
10. इन्जीनियरिंग शिक्षा और हिन्दी
11. प्रबंधन शिक्षा और हिन्दी
12 हिन्दी अनुवाद की दशा व दिशा
13. हिन्दी पत्रकारिता व दूरदर्शन
14 हिन्दी और भारतीय भाषाएँ
15. हिन्दी उत्थान कैसे हो?


नोट:

1. कृपया अपना आलेख एक ओर डबल स्पेस में हिन्दी देवनागरी लिपि में टंकण कराकर, त्रुटिरहित प्रूफकर एक प्रति भेजें। आलेख स्तरीय हो।
2. आपका आलेख किसी भी स्थिति में पाँच पृष्ठों से अधिक नहीं होना चाहिए। आलेख का सार पृथकश: संलग्न करें।
3. आपका मूल आलेख पुस्तक रूप में यथावत सम्पादित/प्रकाशित होगा। सम्पादक के अपने अधिकार होंगे।
4. आपका आलेख हमें प्रत्येक स्थिति में 15 मार्च, 2013 तक अवश्य मिल जाना चा हिए।
5. हमारा प्रयास होगा कि अन्तर्राष्ट्रीय संगोष्ठी में इस ग्रंथ का लोकार्पण हो प्रकाशित होने पर यह ग्रंथ आपको नि:शुल्क दो प्रतियों में प्रदान किया जायेगा। अत: समय के संयमन का अनुपालन करें।
6. अपनी कृतियों के लोकार्पण सम्बन्धी पूर्व सूचना 15 मार्च 2013 तक अवश्य दे दें।

आप असाधारण हिन्दी सेवी हैं। कार्यक्रम आपका अपना है। हिन्दी व हिन्दुस्तान का सम्मान आपके हाथ है। अत: विवादों से बचें और परस्पर देश-विदेश में सौहार्द बनाये रखें। समारोह का उद्देश्य स्पष्ट है- हिन्दी भाषा व साहित्य की सेवा और भारतीय संस्कृति का प्रसार तथा समग्र मानवता का उन्नयन। किसी वैदेशिक धरती पर मंच का यह प्रथम साहित्य-समारोह है। हम आपके सारस्वत सहयोग के स्नेहाकांक्षी।

पंजीयन आवेदन-पत्र:

1. प्रतिभागी का नाम-
2. विभाग -
3. पद -
4. महाविधालय -
5. विश्वविधालय -
6. शिक्षक / साहित्यकार / अन्य -
7. ई-मेल -
8. मोबाइल नम्बर -
9. सृजन की विधाएँ /प् रकाशित कृतियों की संख्या-
10. अपना पासपोर्ट नम्बर (यदि हो तो)-
11. आलेख का शीर्षक -
12. प्रतिभागिता के बिन्दु- अन्तर्राष्ट्रीय संगोष्ठी, काव्य गोष्ठी, सम्मान-2013, टिक करें [√], [×],
13. पंजीयन सहयोग राशि का विवरण- बैंक का नाम - मल्टी सिटी चैक नं0- (चैक के पीछे अपना पता लिखें) रू 21000/-
14. पत्र व्यवहार का पता-

नोट- कृपया अपने पासपोर्ट अथवा भारतीय चुनाव आयोग द्वारा प्रदत्त मतदान परिचय-पत्र की रंगीन छायाप्रति और शैक्षिक साहित्यिक विवरण की प्रति संलग्न करें।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

आपकी प्रतिक्रियाएँ हमारा संबल: